रसायन शास्त्र

The British Library

रसायन शास्त्र की पुरानी कला हैरी पॉटर और पारस पत्थर की जान है. यह रहस्यमयी पत्थर निकोलस फ़्लेमैल ने बनाया था और इसे गुप्त तरीके से हॉगवर्ट्स में लाया गया था. हैरी पॉटर की कहानियां पढ़ने वालों को शायद यह एहसास नहीं हुआ होगा कि फ़्लेमैल नाम का एक आदमी सचमुच था, जो कि मध्यकाल का एक अमीर मकान मालिक (और जानामाना रसायनशास्त्री) था. वह पेरिस में रहता था और वहीं 1418 में उसकी मौत हुई थी.

'रसायनशास्त्र के पुराने अध्ययन कमाल की शक्तियों वाले नायाब पारस पत्थर को बनाने पर ज़ोर देते हैं. यह पत्थर किसी भी धातु को खालिस सोने में बदल देगा. यह ज़िंदगी लंबी करने वाला वह पानी भी बनाता है, जिसे पीने वाला अमर हो जाता है.’
- हैरी पॉटर और पारस पत्थर

'रसायनशास्त्र के पुराने अध्ययन कमाल की शक्तियों वाले नायाब पारस पत्थर को बनाने पर ज़ोर देते हैं. यह पत्थर किसी भी धातु को खालिस सोने में बदल देगा. यह ज़िंदगी लंबी करने वाला वह पानी भी बनाता है, जिसे पीने वाला अमर हो जाता है.’ - हैरी पॉटर और पारस पत्थर

‘“निकोलस फ़्लेमैल,” वह नाटकीय अंदाज़ में फुसफुसाई, “पारस पत्थर के इकलौते जानेमाने निर्माता हैं!”’
हर्माइनी ग्रेंजर, हैरी पॉटर और पारस पत्थर

कभी ऐसा माना जाता था कि निकोलस फ़्लेमैल ने पारस पत्थर की खोज की थी. लेकिन असल में, उन्होंने मध्ययुग में एक मकान मालिक के तौर पर खूब पैसा कमाया. हैरी पॉटर और पारस पत्थर के मुताबिक, ज़िंदगी लंबी करने वाला पानी पीने की वजह से निकोलस 665 या उससे ज़्यादा साल जिए. लेकिन असल में, 1418 में निकोलस की मौत हो गई थी.

उन्हें और उनकी पत्नी पेरेनील को इस चित्र में पेरिस के 'होली इनोसेन्ट्स' में सेवा करते हुए दिखाया गया है.

पुराने रासायनिक काम
पुरानी गाथाओं के मुताबिक, निकोलस फ़्लेमैल ने एक पुरानी किताब की खोज की थी, जिसमें पारस पत्थर बनाने का तरीका बताया गया है. इस किताब में दावा किया गया है कि, यह एक पुराने खोए हुए लेख का अनुवाद है जो कि रब्बी अब्राहम एलिएज़र से जुड़ा हुआ है. इस तस्वीर में एक सांप और ताज पहने हुए एक ड्रैगन को एक गोला बनाते दिखाया है. एक की पूंछ दूसरे से मुंह में है, इस तरह से ये दोनों आपस में जुड़े हुए हैं. यह इस तरफ़ इशारा करता है कि पारस पत्थर बनने के लिए 'आत्मा' और 'परमात्मा' का एक होना ज़रूरी है.

रसायनशास्त्र की किताबें

द स्प्लेंडर ऑफ़ द सन
स्प्लैंडर सॉलिस (‘स्प्लेंडर ऑफ़ द सन’) रसायनशास्त्र की सबसे खूबसूरत किताबों में से एक है. ' स्प्लैंडर सॉलिस के मालिक के बारे में ज़्यादा जानकारी नहीं है, लेकिन इसे गलती से सालोमन ट्रिसमोसिन से जोड़ा जाता है, जिसने पारस पत्थर बनाने का दावा किया था.

इस पेज में एक रसायनशास्त्री को फ़्लास्क पकड़े दिखाया गया है. उसमें से एक स्क्रॉल निकलता है, जिसमें लैटिन भाषा में लिखा है, 'आइए, प्रकृति की चार ज़रूरी चीज़ों को पुकारें.

द बुक ऑफ़ सेवन क्लाइम्स
सात मौसमों की किताब रसायनशास्त्री अबू अल-कासिम अल-इराकी ने लिखी थी. यह रसायनशास्त्र से जुड़ा पहला शोध है. अल-इराकी के मुताबिक, इस तस्वीर में एक मुश्किल रासायनिक प्रक्रिया को दिखाया गया है. असल में, इससे एक पुराना स्मारक बनता है जिसे करीब 4,000 साल पहले मिस्त्र पर शासन करने वाले राजा अमेनेमहत द्वितीय की याद में बनाया गया था.

आभार: कहानी
क्रेडिट: सभी मीडिया
कुछ मामलों में ऐसा हो सकता है कि पेश की गई कहानी किसी स्वतंत्र तीसरे पक्ष ने बनाई हो और वह नीचे दिए गए उन संस्थानों की सोच से मेल न खाती हो, जिन्होंने यह सामग्री आप तक पहुंचाई है.
Google अनुवाद करें
मुख्यपृष्ठ
एक्सप्लोर करें
आस-पास
प्रोफ़ाइल