ज्योतिष शास्त्र (भविष्यवाणियां)

The British Library

भविष्य बताने का एक लंबा इतिहास रहा है और यह ऐसी जादुई कला है जिसमें महारत हासिल करना सबसे ज़्यादा मुश्किल है. सदियों से, लोग अजीब और अद्भुत तरीकों का इस्तेमाल करके भविष्य के बारे में बताते आए हैं. भविष्य बताने की कुछ कोशिशें सच में बेतुकी हैं. पुराने मिस्त्री भविष्य बताने वालों की आखिरी विरासत के मुताबिक, ‘नितंब पर तिल होने से आदमी को इज़्ज़त मिलती है और औरत को दौलत’.

‘तो तुमने पढ़ने के लिए ज्योतिष शास्त्र चुना है, जो जादुई कलाओं की सबसे मुश्किल कला है.’
प्रोफ़ेसर ट्रिलोनी, हैरी पॉटर और अज़्काबान का कैदी

भविष्य बताने वाली चीनी हड्डी
हैरी पॉटर: जादू का इतिहास में यह साधारण दिखने वाली हड्डी सबसे पुरानी है. इसके सामने वाले हिस्से को देखने पर ज्योतिषियों ने पाया कि निकट भविष्य में कुछ भी बड़ा नहीं होगा. पिछले हिस्से पर 1192 ईसा पूर्व में चीन के अन्यांग में 27 दिसंबर को देखे गए चंद्र ग्रहण के बारे में बताया गया है. भविष्य बताने वाली हड्डी को 'ड्रैगन की हड्डी' भी कहा जाता है जिससे उसकी जादुई शक्तियों के बारे में पता चलता है.

यॉर्कशायर की भविष्य बताने वाली महिला
बहुत कम लोग मदर शिप्टन को जानते हैं, जिन्हें 'यॉर्कशायर की भविष्य बताने वाली महिला' के रूप में भी जाना जाता है. हालांकि यह पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता कि वो सचमुच थीं भी या नहीं. उन्होंने सबसे मशहूर भविष्यवाणी सन् 1530 में की थी: उन्होंने कहा था कि यॉर्क के प्रधान पादरी, कार्डिनल वॉल्सी, शहर को दूर से देखेंगे पर वहां कभी पहुंच नहीं पाएंगे. यह सच हुआ कि यॉर्क पहुंचने से पहले ही वॉल्सी को गिरफ़्तार कर लिया गया और उसके कुछ वक्त बाद ही वे मर गए.

ऐसा माना जाता है कि वो बहुत बदसूरत थीं और वह उड़ सकती थीं

‘भविष्य का खुलासा, ज्योतिष के सभी बुनियादी तरीकों की बहुत अच्छी गाइड - हस्तरेखा विज्ञान, भविष्य दर्पण, पक्षियों की आंतें…’ - हैरी पॉटर और अज़्काबान का कैदी

क्या आप प्यार में खुशकिस्मत हैं?
जब प्यार की तलाश कर रहे हों तो इस बात का ध्यान ज़रूर रखना चाहिए कि थाईलैंड के इस लेख के मुताबिक, एक शैतानी आदमी और एक फ़रिश्ते जैसी औरत के बजाय इस बात की उम्मीद ज़्यादा है कि एक गुस्सैल जोड़ा साथ में खुश रहेगा. 19वीं सदी के सियाम में लोग ज्योतिष के विशेषज्ञ (मोर डू) से प्यार और रिश्तों के मामले में सलाह लेते थे.

इन चित्रों में चीनी राशियों से लिए गए वे जानवर हैं, जिन्हें कुंडली बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था.

जादूगरनी का भविष्य बताने वाला आईना
इस आईने की पुरानी मालकिन जादूगरनी सेसिल विलियमसन ने यह चेतावनी दी थी कि अगर आप इस आईने में झांक रहे हों 'और अचानक पीछे कोई खड़ा दिखाई दे तो कुछ भी करें लेकिन पीछे मुड़कर न देखें.'

आईने या साया दिखाने वाली किसी भी सतह से भविष्य बताना एक पुराना तरीका है, जिसे भविष्य दर्पण में झांकना कहा जाता है. यह शब्द 'डेसक्राय' से लिया गया है, जिसका मतलब 'झलक पाना' है.

क्रिस्टल गेज़िंग

क्रिस्टल गेज़िंग
जॉन मेलविले ने यह मशहूर गाइड 19वीं सदी में तब लिखी जब भविष्य बताने वाले गोले में झांकने के लिए लोगों की दिलचस्पी बढ़ने लगी थी. उन्होंने 'मगवॉर्ट या सक्कोरी जड़ीबूटी का अर्क' लेने की सलाह दी, जो, 'अगर चांद के बढ़ने के दौरान कभी-कभार ली जाए तो प्रयोग करने वाले के शरीर को मनचाही शारीरिक स्थिति पाने में मदद करती है.' यह साफ़ नहीं है कि मेलविले की सलाह ने उन लोगों की किस हद तक मदद की जो भविष्य देखने की शक्ति के साथ पैदा नहीं हुए थे.

खुशबूदार नैली
'खुशबूदार नैली' पेंटन की एक जादूगरनी थीं जिनके पास भविष्य बताने वाला गोला था. उनका ये नाम उनके तेज़ खुशबू वाले इत्र लगाने के कारण रखा गया था. उनका मानना था कि ये खुशबू आत्माओं को बुलाती थी, जो उनकी भविष्य देखने में मदद करती थीं. एक गवाह ने बताया, 'आपको उनकी खुशबू एक मील दूर से आ जाएगी … पूर्णिमा की रात खुशबूदार नैली और उनके भविष्य बताने वाले गोले के साथ बिताना एक शानदार अनुभव था.' चांद जैसे दिखने वाले इस काले गोले में रात को ही झांका जाना चाहिए, ताकि भविष्य देखने वाला इंसान शीशे में चांद का परछाई देख सके.

हाथ की रेखाएं पढ़ने की कला

हस्तरेखा विज्ञान सिखाने के लिए बनाया गया हाथ
हस्तरेखा विज्ञान में भविष्य बताने वाले व्यक्ति को हाथ का आकार और उसकी रेखाएं पढ़ना आना चाहिए, इसे किरोमैंसी के नाम से भी जाना जाता है. सिरेमिक के बने इस हाथ में हथेली और कलाई की सभी ज़रूरी रेखाओं और पर्वतों को दिखाया गया है. इस तरह के हाथ सबसे पहले ब्रिटेन में सिखाने के लिए 1880 के दशक में बनाए गए थे. उस वक्त के एक मशहूर हाथ की रेखाएं पढ़ने वाले विलियम जॉन वॉर्नर ने पानी के जहाज़ टाइटैनिक के डूबने जैसी कुछ मशहूर भविष्यवाणियां की थी. उन्हें चेयरो के नाम से भी जाना जाता है.

हथेली की रेखाएं पढ़ना
700 साल पुराने इस लेख में भविष्यवाणियों और भविष्य बताना सीखने के निर्देशों को शामिल किया गया है. आप देख सकते हैं कि इसका एक हिस्सा हस्तरेखा विज्ञान के बारे में बताता है. दाएं हाथ पर, हथेली से गुज़रती हुई एक खड़ी रेखा के बारे में लिखा है, 'यह रेखा आपकी ज़िंदगी में प्यार का भविष्य बताती है.' तर्जनी और मध्यमिका के बीच एक खड़ी रेखा होना खराब किस्मत की निशानी है, जिसका मतलब है: 'यह रेखा एक दर्दनाक मौत की तरफ़ इशारा करती है; अगर यह रेखा उंगली के बीच तक पहुंचती है तो यह अचानक मौत की तरफ़ इशारा करती है.' बाकी रेखाएं भविष्य में होने वाली बीमारियों के साथ-साथ बहादुरी और विनम्रता जैसी खूबियों के बारे में भी बताती है.

मिस्त्र का एक पुराना भविष्य पढ़ने वाला
ऐसा माना जाता है कि मिस्त्र की पुरानी भविष्यवाणी की तकनीकों को मिलाकर यह पर्चा एक अनाम ब्रिटिश लेखक ने बनाया था. हालांकि इसमें दी गई सलाह थोड़ी संदिग्ध है, इसमें एक संत की सलाह खुद हैरी पॉटर के लिए भी है: अगर तुम 'सांपों से लड़ते हो और उन्हें नष्ट करते हो' तो तुम 'दुश्मनों पर जीत' हासिल कर लोगे. हस्तरेखा विज्ञान के साथ-साथ, इसमें यह भी बताया गया है कि कैसे आपके शरीर के तिलों को पढ़कर भविष्य बताया जाता है: जैसे, 'नितंब पर एक तिल से आदमी को इज़्ज़त मिलती है और औरत को दौलत.'

चाय की पत्तियां पढ़ना

‘मुझे कई दिलचस्प चीज़ें दिखाई दे रही हैं’
टेसियोग्राफ़ी — फ़्रेंच के टेसी (कप) और ग्रीक के ग्राफ़ (लेखन) से लिया गया टेसियोग्राफ़ी शब्द— भविष्य बताने की एक शैली है, जिसमें चाय के प्यालों के तलछट से देखकर भविष्य बताया जाता है. चीन में चाय की खोज के बाद, 17वीं सदी में यूरोप में भविष्य बताने की इस शैली का इस्तेमाल होना शुरू हुआ.

यह प्याला 1930 के दशक में इंग्लैंड में बनाया गया था. इसके अंदर चाय की पत्तियां क्या सुझा रही हैं, ये समझने में मदद करने वाले संकेत दिए गए हैं, जबकि कप के किनारों पर लिखा है: 'मैनी क्यूरियस थिंग्स आई सी वेन टेलिंग फॉर्च्यून्स इन योर टी' (यानी 'तुम्हारी चाय की पत्तियों में भविष्य पढ़ते वक्त मुझे कई दिलचस्प चीज़ें दिखाई दे रही हैं.')

अ प्रैक्टिकल गाइड टू टी-लीफ़ रीडिंग
इस किताब में चाय की पत्तियों से भविष्य बताने के बारे में ढेर सारी जानकारी दी गई है. इसे 'एक पहाड़ी ऋषि' ने लिखा था. यह चाय के प्याले के सही आकार और बनावट के साथ ही यह भी बताती है कि भविष्य बताने के लिए किस तरह की चाय का इस्तेमाल करना चाहिए. अज़्काबान का कैदी में , प्रोफ़ेसर ट्रिलोनी हैरी को उसके प्याले में दिख रहे 'ग्रिम' के बारे में बताती हैं. यह एक बड़ा सा कुत्ता है, जो मौत की तरफ़ इशारा करता है. इसके उलट, इस किताब में प्याले में ऊपर की तरफ़ कुत्ता दिखना एक अच्छा संकेत है. कुत्ता वफ़ादार दोस्त का एक प्रतीक है.

आकार और उनके मतलब समझाए गए
इस पर्चे के मुताबिक, चाय की पत्तियों से भविष्य पढ़ना 229 ईसा पूर्व से शुरू हुआ. उस समय यह तरीका चीन की राजकुमारी ने अपनाया था. यह चाय की पत्तियों से प्याले में बनने वाले आकारों का मतलब समझने के लिए एक गाइड की तरह काम करता है.

इनमें से कुछ में अंतर बता पाना काफ़ी मुश्किल है, जैसे नंबर 38 और 42 — ‘आप एक अजनबी से मिलेंगे’ और ‘आप एक दुश्मन बना लेंगे’. बाकी भविष्यवाणियां बहुत ज़्यादा सटीक और अजीब हैं: नंबर 44 के मुताबिक, ‘आपको नौसेना में जाने का मन करेगा’.

क्रेडिट: सभी मीडिया
कुछ मामलों में ऐसा हो सकता है कि पेश की गई कहानी किसी स्वतंत्र तीसरे पक्ष ने बनाई हो और वह नीचे दिए गए उन संस्थानों की सोच से मेल न खाती हो, जिन्होंने यह सामग्री आप तक पहुंचाई है.
Google अनुवाद करें
मुख्यपृष्ठ
एक्सप्लोर करें
आस-पास
प्रोफ़ाइल