1976

स्टीव बीको: जांच

Steve Biko Foundation

"मृत्यु का कारण: कोई आरोपी नहीं" - मजिस्ट्रेट  प्रिंस

14 सितंबर 1977 में न्याय मंत्री जिमी क्रुगर एक नैशनलिस्ट पार्टी कांग्रेस को संबोधित किया जिसमें उन्होंने बिको की मृत्यु में पुलिस का कोई भी हाथ होने से इंकार किया और कहा कि उनकी भूख हड़ताल के कारण हुई थी. उनका परिवार और उनके डोनल्ड वुड जैसे मित्रों ने मिलकर स्टीव की मृत्यु का सत्य सबके सामने लाने की ठानी. बिको की मृत्यु के ठीक कुछ दिनों बाद 14 नवंबर 1977 को प्रेटोरिया में पुराने यहूदी मंदीर में उनकी मृत्यु की नियमित जांच-पड़ताल शुरु हो गई. इस 13 दिनों की जांच में बिको परिवार के सिडनी केंट्रिज वकील थे. पोस्टमार्टम में मस्तिष्क, खोपड़ी, होंठ, पसली में पांच मुख्य जगहों पर चोट के निशान दिखाई दिए. हालांकि मजिस्ट्रेट प्रिंस ने सरकार का साथ दिया और तीन मिनट तक वह निर्णय सुनाया जिसके कारण इस रंगभेद-सरकार की व्यापक रूप अंतर्राष्ट्रीय आलोचना की गई. निर्णय था कि 'इस हत्या के लिए कोई ज़िम्मेदार नहीं है'. 

जांच के दौरान श्रीमति ट्सिकी
स्टीव बीको की मां, ऐलिस "मामसेटे" बीको; उनकी बहन, नोबान्डिले बीको; और उनकी पत्नी, ट्सिकी बीको उनकी मृत्यु के बाद.
जांच में प्रमाण
यूके के सर डेविड नैप्ली द्वारा जांच
अज़ानिया का ब्लैक कॉन्शियसनेस आंदोलन - स्टीव बीको को श्रद्धांजलि

स्टीव बीको की मृत्यु के बाद पोर्ट ऐलिज़ाबेथ सुरक्षा शाखा के सदस्यों और उनके मामले से जुड़ें अन्य लोगों की पदोन्नति की गई. क्रेग विलियमसन को मेयर के पद पर पदोन्नत किया गया. 1980 में उनकी सच्चाई सामने आने पर वह दक्षिण अफ़्रीका वापस लौट गए और पीएट "बीको" गूसेन के नेतृत्व में दक्षिण अफ़्रीकी सुरक्षा पुलिस के विदेश विभाग में प्रतिनिधि बन गए. विलियमसन को बाद में राष्ट्रपति परिषद में नियुक्त किया गया था. 

प्रिटोरिया में पुराना आराधनालय - बीको की मौत और अन्य राजनीतिक परीक्षणों में जांच स्थल

बीको आधिकारिक रूप से राज्य सुरक्षा कानून के अंतर्गत यातना और मृत्यु के 46वें शिकार बने. उनकी मृत्यु ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के सामने दक्षिण अफ़्रीकी सुरक्षा कानून की निर्दयता और दक्षिण अफ़्रीकियों की सामान्य हालत स्पष्ट करने में सहायता की. इसके सीधे परिणाम में पश्चिमी देशों ने दक्षिण अफ़्रीका में हथियार के विक्रय पर अनिवार्य प्रतिबंध लगाने के संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद मत का समर्थन करने का निर्णय लिया (4 नवंबर, 1977 का प्रस्ताव 418).  

सर सिडनी केंट्रिज 12वां वार्षिक स्टीव बीको मेमोरियल लेक्चर देते हुए, "ऐविल अंडर द सन - द डेथ ऑफ़ स्टीव बीको"

"क्षमादान की सुनवाइयों ने स्पष्ट किया कि समस्या प्रारंभ हो चुकी है, इसलिए नहीं क्योंकि बीको को अपराध में फसाने के लिए हलफनामों के साथ पेश किया गया या क्योंकि उन्होंने किसी भी अन्याय में लिप्त होने को स्वीकार किया था, बल्कि इसलिए क्योंकि उन्होंने कुर्सी पर बैठने का आग्रह किया था"

- जॉर्ज बिज़ोस

"आप या तो जीवित हैं और स्वयं पर गर्व है या आप मर चुके हैं और जब आपकी मुत्यु हो चुकी है, तो आप कैसे भी चिंता नहीं कर सकते. साथ ही आपकी मृत्यु का तरीका स्वयं में ही राजनीतिकरण हो सकता है. तो आपकी मुत्यु दंगों में हुई है. दंगे किस कारण से हुए हैं उसके आधार पर उनमें से अधिकांश में, वास्तव में, कुछ भी खोने के लिए नहीं होता - लगभग बिल्कुल भी नहीं. अतः अगर आप मुत्यु के भय पर विजय पा लेते हैं, जो कि बहुत ही तर्कहीन बात है, तो आप जल्द ही ऐसा कर सकते हैं."

- बीको , निबंध से निष्कर्ष "मृत्यु पर" , आई राइट वॉट आई लाइक

1977 का डिकोना ब्यान

19 अक्टूबर 1977 को, एक ऐसा दिन जो काले बुधवार के नाम से जाना जाने लगा, अपार्टाइट सरकार ने ब्लैक कॉन्शियसनेस आंदोलन से संबद्ध 18 संगठनों अवैध करार दिया, जिसमें नर्सिंग संघ, शिक्षक समूह और समुदाय संघ शामिल थे, जो आंदोलन का व्यापकता और प्रभाव के साथ प्रदर्शन रहे थे. संस्थाओं सहित BPC और SASO के प्रमुख नेता भी गिरफ्तार कर लिए गए थे और उन्हें उसी दिन जेल भेज दिया गया था. मीडिया को भी नहीं बक्शा गया था, द वर्ल्ड एंड वीकेंड वर्ल्ड समाचार पत्रों को प्रकाशन बंद करने का आदेश दिया गया था.

प्रतिबंधित संगठनों की सूची
कक्ष 619, बीको पर की गई यातना के बाद
बीको को ले जाने के लिए उपयोग किया गया लैंड रोवर
अदालत जहां जांच-पड़ताल हुई

" मुझे लगता है कि स्टीव को सुरक्षा पुलिस के हाथों मरने की अपेक्षा थी. मुझे लगता है कि हम सभी को इसकी अपेक्षा थी. स्टीव काले लोगों के लिए अपना जीवन का त्याग करने के लिए तैयार थे."

- ट्सिकी बीको , स्टीव बीको की विधवा

हिरासत में मृत्यु
नवंबर 1977 का संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव 418
आभार: कहानी

Steve Biko Foundation:
Nkosinathi Biko, CEO
Y. Obenewa Amponsah, Director International Partnerships
Donna Hirschson , Intern
S. Dibuseng Kolisang, Communications Officer
Consultants:
Ardon Bar-Hama, Photographer
Marie Human, Researcher

क्रेडिट: सभी मीडिया
कुछ मामलों में ऐसा हो सकता है कि पेश की गई कहानी किसी स्वतंत्र तीसरे पक्ष ने बनाई हो और वह नीचे दिए गए उन संस्थानों की सोच से मेल न खाती हो, जिन्होंने यह सामग्री आप तक पहुंचाई है.
Google अनुवाद करें
मुख्यपृष्ठ
एक्सप्लोर करें
आस-पास
प्रोफ़ाइल