25 दिस॰ 1989 - 31 जुल॰ 1993

बर्लिन की दीवार का गिरना

Getty Images

'नए जर्मनी के लिए शुभकामना और शांति - पूर्व और दक्षिण का मिलान' - स्टीव एसन द्वारा लिए गए चित्र
गेट्टी इमेजस

स्टीव एसन, पश्चिमी लंदन में, गेट्टी इमेंजस में, एक अनुभवी और कुशल प्रिंटर और डार्क रूम तकनीशियन था. वह एक प्रतिभावान फ़ोटोग्राफ़र भी था और उसने 1980 के दशक में खनिक हड़तालों, व्यक्ति कर दगों, संलैंगिक प्रतिष्ठा और हेनली रेगाटा जैसे कई विविध ईवेंट की तस्वीरें ली थी.

1989 में स्टीव बर्लिन की दीवार के गिरने पर दस्तावेज़ी बनाने जर्मनी गया. उसने बर्लिन के पूर्वी भाग में जाना तय किया क्योंकि उसे पता था कि अधिकांश प्रेस वाले पश्चिमी जर्मनी जाएंगे, जहां अधिक लोगों की भीड़ होगी. वह इस आशा में था कि शायद उसे भीड़ से दूर कुछ अलग और नज़दीकी तस्वीरें खींच सके.

उसका यह निर्णय सही साबित हुआ, स्टीव ने लोगों के व्यवहार और उत्सवी उत्साह को नज़दीक से और सबसे पहले देखा. इस स्थान पर स्टीव की पसंदीदा फ़ोटोग्राफ़ दाईं ओर लगी वह तस्वीर है जिसमें एक परिवार पश्चिम की ओर जा रहा है, यह हमें इस राजनैतिक ईवेंट के मानवीय नाटक के बारे में कुछ बताता है. 

25 दिसंबर को पूर्वी जर्मन वासी बर्लिन की दीवार में एक दरार के माध्यम से दूसरी ओर जाने की तैयारी में
एक शांत क्षण, शहरी परिद्दश्य प्रकाश के कारण नर्म दिखाई पड़ रहे है. लोग पूर्वी बर्लिन छोड़ने के लिए कतार में लग रहे है.
बॉक्सिंग डे को पूर्वी दीवार के पार, एक क्रिसमस का पेड़ दिखाई दिया.
बर्लिन की दीवार के एक हिस्से को तोड़ते हुए स्वतंत्रता का एक झोंका.
पूर्वी बर्लिनवासी शहर के विभाजन के प्रभावी अंत का जश्न मनाने बर्लिन की दीवार पर चढ़ गए.
हथौड़े और छेनी के साथ फ़ोटो खिंचवाने की मुद्रा में खड़ा एक व्यक्ति.
 दीवार पर चढ़ा हुआ एक विजयी समूह.
सहायता करने वाले सीमा गार्ड दीवार पर एक बच्चे को ऊपर उठाते हुए.
अब कोई बाधा नहीं, लोगों ने दीवार पर चढ़ाई की.
एक छोटी लड़की दीवार को छेनी से तोड़ती हुई
स्टीव एक पिता और उसके बच्चों से मिला, यहां एक छोटा बच्चा दीवार की एक दरार को लगातार तोड़ने का प्रयास कर रहा है
दीवार तोड़ने में मदद करता एक उल्लासित समूह.
एक बच्चे को दीवार पर उठाया गया.
यह युवा पुरूष वास्तव में दीवार की गुफ़ा के अंदर था और राहगीरों को दीवार के टुकड़े दे रहा था. 
इतिहास रचा जा रहा था, लोग नव वर्ष और शहर के विभाजन के प्रभावी अंत का उत्सव मना रहे थे. 
अगस्त 1993 में, सैर करते समय, एक संलैंगिक जोड़े ने बर्लिन की दीवार के बचे हुए भाग पर भित्त चित्र बनाया.
बर्लिन की दीवार पर बनाया गए भित्ति चित्र के अनुसार, लियोनिड ब्रेज़नेव और एरिक होनेकर नामक जर्मन नेता एक दूसरे का चुंबन ले रहे थे.
आभार: कहानी

Curator - Caroline Theakstone, Archive Research Manager
Photographer — Steve Eason

क्रेडिट: सभी मीडिया
कुछ मामलों में ऐसा हो सकता है कि पेश की गई कहानी किसी स्वतंत्र तीसरे पक्ष ने बनाई हो और वह नीचे दिए गए उन संस्थानों की सोच से मेल न खाती हो, जिन्होंने यह सामग्री आप तक पहुंचाई है.
Google अनुवाद करें
मुख्यपृष्ठ
एक्सप्लोर करें
आस-पास
प्रोफ़ाइल