1912 - 1993

1913 भूमि अधिनियम

Africa Media Online

"काले धब्बों" का निष्कासन

1913 के भूमि अधिनियम ने "गोरे" लोगों की भूमि के रूप में निर्दिष्ट क्षेत्रों में "काले" लोगों द्वारा भूमि खरीदने या किराए पर लेने पर प्रतिबंध लगा दिया. यह कानून भी रंगभेद नीति का एक छोटा सा हिस्सा था और इसके कारण कानून द्वारा काले लोगों के 'अधिकार' और भूमि पर उनके स्वामित्व पर प्रतिबंध लगाने में मदद मिली.  

इस कानून की बातों को पूरा करने के लिए सरकार ने गोरे लोगों के लिए निर्दिष्ट क्षेत्रों से काले लोगों को बल-पूर्वक निकालने हेतु कदम उठाए.

वाल्सपैन में घर, वह क्षेत्र जिसे रंगभेदी ताकतों द्वारा हटाने की धमकी दी गई. निवासियों को अपने घरों की मरम्मत करने की अनुमति नहीं थी और केवल मूल सेवाएं प्रदान की जाती थीं. रंगभेदी सरकार ने फिर उसे 'गंदी बस्ती (स्लम)' घोषित कर दिया. दरवाजों पर अंकित संख्याएं यह इंगित करती हैं कि इन्हें निकाला जाना है
अपने घर से बाहर, श्री क्वेल, वाल्सपैन कार्यकर्ता. वाल्सपैन वह क्षेत्र था जहां रंगभेद नीति द्वारा बल-पूर्वक निष्काषन की धमकी दी गई थी. निवासियों को अपने घरों की मरम्मत करने की अनुमति नहीं थी और उन्हें केवल मूलभूत सुविधाएं ही प्रदान की गई थीं. रंगभेदी सरकार ने बाद में इस क्षेत्र को 'झुग्गी बस्ती' घोषित कर दिया. दरवाज़े पर लगी संख्‍या दर्शाती है ‍कि निष्कासन किया जाना है.
दीवार पर मिट्टी से पुताई करती महिला. डगाक्राल, रंगभेदी सरकार द्वारा 'काला धब्बा' के रूप में नामित एक क्षेत्र था और इसमें बल-पूर्वक निष्कासन की धमकी दी गई थी. घर की देखभाल करने को निष्कासन का विरोध माना जाता था.
ब्लैक सैश के सदस्य जिल के साथ प्रशंसा गीत गायक टिंकी. मैथोपिस्टेड, रंगभेदी सरकार द्वारा 'काला धब्बा' के रूप में नामित एक क्षेत्र था और यहां बल-पूर्वक निष्कासन की धमकी दी गई थी.
सोफ़ियाटाउन निष्कासन - कार्रवाई - सोफ़ियाटाउन, जोहानेसबर्ग के पहले साठ परिवारों को अपने घर छोड़ने के आदेश दे दिए गए थे और उन्हें मीडोलैंड्स में नए स्थान पर आवास का प्रस्ताव दिया गया था. "नेटिव रीसेटलमेंट अधिनियम 1954 की शर्तों के अधीन आपको अपने निवास स्‍थान को खाली करने का आदेश दिया जाता है..."
निष्कासन का विरोध
अवैध निवासियों पर नज़र रखती पुलिस, जिनके घर गिरा दिए गए है.  मिडरैंड: 1991
सामान लादना और विस्थापन
शौचालय और कांटों की झाड़ियां. रंगभेदी सरकार द्वारा बल-पूर्वक हटाए गए लोगों को कभी-कभी तंबू दिया जाता था. हालांकि, शौचालय हमेशा उपलब्ध थे. उजाड़ स्थानों पर शौचालयों की कतार का मतलब होता था कि वहां बल-पूर्वक निष्कासन किया जाना है.
केप टाउन के डिस्ट्रिक्ट छः में गिराए जा रहे भवन
पुनर्वास क्षेत्र में अपने सामान के ढेर के बीच बेट्टी नाकोना. बोट्शाबेलो: 1987
फ़ेंका गया! बीस्टेक्राल, रंगभेदी तंत्र द्वारा बल-पूर्वक हटाए गए लोगों के लिए 'कचरा फ़ेकने की जगह' जैसा था. उन्हें तंबू और शौचालय उपलब्ध कराए गए थे. खेतों से निकालकर बाहर किए गए किसानों को भी यहां भेज दिया गया था.
श्रीमती हलात्स्वायो, ड्रिएफ़ोंटीन में नया घर बनाती हुईं. ड्रिएफ़ोंटीन वह क्षेत्र था जिसे रंगभेदी सरकार द्वारा 'काला धब्बा' माना जाता था. उन किसानों को जिन्हें पड़ोसी गोरे लोगों के मालिकाना हक़ वाले खेतों से निकाला गया था, ड्रिएफ़ोंटीन में शरण दी गई. श्री टिमोथी हलात्स्वायो तब घायल हो गए जब ट्रैक्टर चलाने वाले किसान के घरों को गिराया गया. किसान ने इस दुर्घटना की जिम्मेदारी लेने से मना कर दिया और उन्हें अपने खेत से बेदखल कर दिया.
बल-पूर्वक निकाले जाने का भरपूर लाभ उठाना. अफ़्रीका का विरोधी जज़्बा.
आभार: कहानी

Photographer — Gille de Vlieg / South Photographs
Photographer — Paul Weinberg / South Photographs
Photographer — Paul Grendon / South Photographs
Photographer — Graeme Williams / South Photographs
Photographer — Cedric Nunn
Photographic Archive — Baileys African History Archive
Photographer — Paul Alberts / South Photographs
Photographer — Guy Tillim /  South Photographs

क्रेडिट: सभी मीडिया
कुछ मामलों में ऐसा हो सकता है कि पेश की गई कहानी किसी स्वतंत्र तीसरे पक्ष ने बनाई हो और वह नीचे दिए गए उन संस्थानों की सोच से मेल न खाती हो, जिन्होंने यह सामग्री आप तक पहुंचाई है.
Google अनुवाद करें
मुख्यपृष्ठ
एक्सप्लोर करें
आस-पास
प्रोफ़ाइल