नगीना की मशहूर लकड़ी पर नक्काशी

प्रतिभा और आधुनिकता का बेहतरीन संगम

Dastkari Haat Samiti

दस्तकारी हाट समिति

Mohammed Matloob's workshop की Mughal wood carving (2018-04)Dastkari Haat Samiti

नगीना की लकड़ी पर नक्काशी की कला अपने इलाके में ही नहीं, बल्कि पूरे देश और दुनिया भर में मशहूर है. नगीना कस्बे के भारत में लकड़ी पर नक्काशी के केंद्र के तौर पर उभरने की एक वजह यह है कि यहां आस-पास के इलाके में तरह-तरह की लकड़ी आसानी से मिल जाती है.

Wood workshop (2018-04)Dastkari Haat Samiti

समाज की रोज़मर्रा की ज़रूरतें पूरी करने के मकसद से लकड़ी पर नक्काशी की शुरुआत हुई. जिन लोगों के हाथ में हुनर होता है, वे लोग आम तौर पर अपनी रचनात्मकता के स्पर्श से चीज़ों को सजाना या संवारना पसंद करते हैं.

Wood Carving (2018-04)Dastkari Haat Samiti

कारीगर लकड़ी की उपलब्धता और कीमत के मुताबिक कई तरह की लकड़ियां इस्तेमाल करते हैं. साथ ही, वे खास मामलों में नक्काशी की डिज़ाइन की ज़रूरत के मुताबिक भी सही लकड़ी का चुनाव करते हैं. एबनूज़ (ईबोनी), शीशम (भारतीय रोज़वुड), हल्दू (पीला सागौन), लोक्वाट और साल की लकड़ी सबसे ज़्यादा इस्तेमाल की जाती है.

Mohammed Matloob's workshop की Wood Carving (2018-04)Dastkari Haat Samiti

शीशम सबसे सस्ती लकड़ियों में से एक है. नक्काशीदार कंघी, पेन स्टैंड, जूड़े की स्टिक्स और चाभी का गुच्छा मुख्य रूप से शीशम से बनते हैं. कारीगर शीशम की लकड़ी इसलिए भी पसंद करते हैं, क्योंकि यह दूसरी लकड़ियों से ज़्यादा मुलायम होती है. साथ ही, इस पर नक्काशी करना आसान होता है.

अबनूज़ दूसरी लकड़ियों के मुकाबले ज़्यादा सख्त और महंगी होती है. अबनूज़ की खास बात यह है कि इसका रंग काला होता है. इसमें लोहे की मात्रा बहुत ज़्यादा होने की वजह से यह काफ़ी सख्त होती है.

Mohammed Matloob's workshop की Wood Carving: Filing a box with bone inlay work (2018-03)Dastkari Haat Samiti

नगीना लकड़ी पर नक्काशी के अलावा, धातु की कशीदाकारी के लिए भी मशहूर है. पुराने समय में नगीना के कारीगर ही बंदूकों के धातु हिस्से पर सजावटी डिज़ाइन बनाते थे. नए कानून लागू होने और बंदूकों का औद्योगिक ढंग से उत्पाद होने के बाद से यह सिलसिला बंद हो गया और हथियार ज़्यादातर लोगों की पहुंच से दूर होते गए. मांग में बदलाव हुआ, तो कारीगर इबोनी लकड़ी की तरफ़ मुड़ गए. आज शिल्प जगत पर भारतीय डिज़ाइन स्कूलों का असर दिखाई देता है. कारीगर और विशेषज्ञ एक दूसरे के साथ अपने विचार और हुनर बांटते हैं. इसकी वजह से कई आधुनिक उत्पाद जैसे खिलौने, खेल से जुड़े सामान और जीवन शैली से जुड़ी चीज़ें बनने लगी हैं.

Mohammed Matloob's workshop की Mughal wood carving (2018-04)Dastkari Haat Samiti

Signature wood works of Nagina

नगीना के कारीगर लकड़ी पर नक्काशी करके ढेरों तरह की चीज़ें बनाते हैं. इनमें चारपाई, लकड़ी के पैर वाले रस्सी से बुने जाने वाले बिस्तर जैसे रोज़ इस्तेमाल होने वाली चीज़ें शामिल है. इनके अलावा, कारीगर बड़े पर्दे, लैंप और गहने के डिब्बे जैसी बेहद सजावटी चीज़ें भी बनाते हैं.

Asha Ram's workshop की Wood Carving (2018-03)Dastkari Haat Samiti

नगीना अपनी पेचीदा एक-जैसे पैटर्न वाली खूबसूरत नक्काशीदार कंघी के लिए मशहूर है.

Asha Ram's Workshop की Wood Carving (2018-03)Dastkari Haat Samiti

महीन नक्काशी और कई तरह के डिज़ाइन वाली कंघियों पर सांस्कृतिक और माहौल के कई असर दिखाई देते हैं.

Asha Ram's workshop की Wood Carving (2018-03)Dastkari Haat Samiti

नक्काशीदार कंघी का जोड़ा राजा-रानी कहलाता है और महारानी कंघी नगीना की खास पहचान है. बेहद शानदार नक्काशी इसकी अहम खासियत है.

रानी कंघी में दोनों तरफ़ दांत होते हैं और राजा कंघी में सिर्फ़ एक तरफ़.

रानी कंघी में दोनों तरफ़ दांत होते हैं और राजा कंघी में सिर्फ़ एक तरफ़.

Asha Ram's Workshop की Wood Carving: House of a master craftsman (2018-03)Dastkari Haat Samiti

बालदेवी अपने बाल संवारने के लिए रानी कंघी इस्तेमाल करती हैं और इससे उन्हें राजसी अंदाज़ महसूस होता है.

Omwati की Wood Carving (2018-03)Dastkari Haat Samiti

चिकनी नक्काशीदार लकड़ी की छड़ें, बालों की लट सही जगह बनाए रखने के लिए डिज़ाइन की गई हैं. साथ ही, ये सरल
और सजीले फ़ैशन का किरदार भी अदा करती हैं.

Mohammed Matloob's workshop की Mughal wood carving (2018-04)Dastkari Haat Samiti

बालों के लिए लकड़ी पर कढ़ाई की चीज़ों का संग्रह दिखाया है जिन्हें नगीना की महिलाओं ने बनाया है.

Mohammed Matloob's workshop की Wood Carving (2018-04)Dastkari Haat Samiti

A jewellery box with fine jaali work, made using a combination of two kinds of wood.

Wood workshop (2018-04)Dastkari Haat Samiti

छोटे से कस्बे नगीना में बना जहाज का पहिया दिखाता है कि मशीन का एक मामूली सा पुर्ज़ा इतने कलात्मक तरीके से
भी बनाया जाता है कि वह अपने आप में ही कला का बेहतरीन नमूना बन जाता है.

Asha Ram's Workshop की Wood Carving (2018-03)Dastkari Haat Samiti

Craft Innovation

पुरानी पारंपरिक तकनीकों के साथ तैयार किए गए आधुनिक डिज़ाइन हाल के सांस्कृतिक संगम हैं. इससे कारीगर को शिल्प और कारोबार दोनों को बनाए रखने में मदद मिलती है.

Mohammed Matloob's workshop की Brass inlay (2018-04)Dastkari Haat Samiti

लकड़ी के कोस्टर, शहरी घरों की ज़रूरतों के मुताबिक आधुनिक शैली में डिज़ाइन किए हैं, ये गांव के खरीदार शायद ही
कभी इन्हें अपनी ज़रूरत मानते हों. भारतीय कारीगरों ने अलग-अलग संस्कृति के लोगों के हिसाब से चीज़ें बनाना सीखा
है.

Wood workshop (2018-04)Dastkari Haat Samiti

मोहम्मद उवेश अपने कारखाने के बाहर एक खास डिज़ाइन वाले लकड़ी के पीढ़े पर बैठे हैं.

Mohammed Uvesh की Wood workshop (2018-04)Dastkari Haat Samiti

लकड़ी का पीढ़ा बनाने वाले कारीगर ने बताया कि दरअसल जब महिलाएं बुनाई करती हैं, तब ऊन के गोले को अपनी जगह टिकाए रखने के लिए इसे बनाया गया था. इसकी शानदार डिज़ाइन ने इसे मशहूर कर दिया और फिर इसे सारी
दुनिया में निर्यात किया जाने लगा.

Mohammed Matloob's workshop की Wood Carving (2018-04)Dastkari Haat Samiti

लकड़ी का यह खूबसूरत फ़्रेम राजस्थानी चित्रकला और नगीना के पेचीदा जाली वाले हुनर का बेहतरीन नमूना है.

लकड़ी का यह खूबसूरत फ़्रेम राजस्थानी चित्रकला और नगीना के पेचीदा जाली वाले हुनर का बेहतरीन नमूना है.

Asha Ram's workshop की Wood Carving: At the village (2018-03)Dastkari Haat Samiti

लकड़ी का यह लूडो गेम, भारतीय रोज़वुड के कई रंगीन हिस्सों से बना है. यह लकड़ी को रंगने की गुणवत्ता से फ़ायदे दिखाता है जिसे कारीगर ने नए अंदाज़ में इस्तेमाल किया है.

Asha Ram's Workshop की Wood Carving (2018-03)Dastkari Haat Samiti

आप लकड़ी के पंद्रह इंच लंबे इस क्यूब का आकार बदल सकते हैं. यह दिखाता है कि आधुनिक डिज़ाइन और आकार
बदलने की काबिलियत रखने वाली चीज़ें, शहरी खरीदारों को लुभा रही हैं.

Asha Ram's Workshop की Wood Carving (2018-03)Dastkari Haat Samiti

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ फ़ैशन टेक्नोलॉजी जैसे भारतीय डिज़ाइन संस्थान, अपने युवाओं को कारीगरों के साथ काम करने
के लिए भेजते हैं ताकि वे शिल्प की परंपरा और प्रामाणिकता सीख सकें. साथ ही, कारीगर भी उनसे आधुनिक डिज़ाइन
बनाना सीखते हैं.

Wood carving (2018-04)Dastkari Haat Samiti

नगीना की लकड़ी पर नक्काशी के बारे में यहां ज़्यादा पढ़ें:

- नगीना के नक्काश
- बेहतरीन गुणवत्ता के उत्पाद
- एक हुनरमंद कारीगर की तस्वीर

आभार: कहानी

क्रेडिट: लेख
टेक्स्ट: रश्मि सचर
फ़ोटोग्राफ़ी: सुबिनॉय दास
कारीगर: मोहम्मद मतलूब और प्रशिक्षुओं की टीम, योग राज और उनके नक्काशों की टीम.
मौके पर सहयोगी: रश्मि सचर
डॉक्यूमेंट्री वीडियो: सुबिनॉय दास
क्यूरेशन: रुचिरा वर्मा

क्रेडिट: सभी मीडिया
कुछ मामलों में ऐसा हो सकता है कि पेश की गई कहानी किसी स्वतंत्र तीसरे पक्ष ने बनाई हो और वह नीचे दिए गए उन संस्थानों की सोच से मेल न खाती हो, जिन्होंने यह सामग्री आप तक पहुंचाई है.
ज़्यादा जानें
मिलती-जुलती थीम
कारीगरी भारत की
कारीगरों से मिलिए, उनका हुनर देखिए, और उनकी कहानियां दुनिया तक पहुंचाइए
थीम देखें
Google ऐप