Editorial Feature

20 साल बाद, “हैरी पॉटर की किताबों के असर” का लंबे समय तक चलने वाला जादू

ब्लूम्सबरी में बच्चों की किताबों की प्रकाशन निर्देशिका, रेबेका मेकनेली, इस सीरीज़ का असर लोगों पर अब तक है


रेबेका मेकनेली ब्लूम्सबरी में बच्चों की किताबों की प्रकाशन निर्देशिका हैं. यह उनके काम का हिस्सा है कि हैरी पॉटर की जो किताबें प्रकाशक छापते हैं, वे पढ़ने वालों की नई पीढ़ी तक पहुंच सकें. यह ब्लूम्सबरी के उन प्रोजेक्ट से साफ़ ज़ाहिर होता है, जिनमें हैरी पॉटर की हालिया प्रकाशित हुई वे किताबें भी शामिल हैं, जिनके लिए ‘जिम के’ ने पेंटिंग बनाई हैं. “बच्चों की किताबों के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि 8-9 साल के बच्चे हमेशा मिल जाते हैं, जिन्होंने अभी तक हैरी पॉटर का रोमांच अनुभव नहीं किया है,” रेबेका कहती हैं.

“बच्चों का लेखक होना एक बहुत ही बड़ी बात है क्योंकि आपकी किताबें उनके हाथ में हैं, कभी-कभी जब वे बहुत ही बुरे दौर से गुज़र रहे होते हैं तो, उन्हें उससे बाहर निकालने में मदद करती हैं.”

हैरी पॉटर की किताबें जिस तरीके से दुनिया भर के बच्चों (और बड़ों) की कल्पनाओं को उड़ान देती आई हैं, उसे जानते हुए रेबेका “हैरी पॉटर की किताबों के असर” के बारे में बताती हैं और यह भी कि यह किस तरह बच्चों की किताबों के प्रकाशन को और दिलचस्प बनाता है. रेबेका के जवाबों के साथ-साथ हम आपको जे के रोलिंग के लिखे हुए ड्राफ़्ट, चरित्रों के शुरुआती स्केच और बारीकी से बनाए गए नक्शों की झलक दिखा रहे हैं और अब तक की सबसे सफल किताबों में से एक के बनने की कहानी बता रहे हैं.

ग्रीनहाउस, ब्लूम्सबरी पब्लिशिंग (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)

“हैरी पॉटर की किताबों के असर” से लोगों का क्या मतलब है?

यह शायद ज़्यादा सही होगा अगर हम मानें कि असर एक से ज़्यादा हैं. उन सबके बारे में सटीक रूप से कहना बहुत मुश्किल है, लेकिन उनमें से कुछ सचमुच कड़े असर हैं. उनमें से एक UK Bookscan [एक प्रक्रिया जिससे यूनाइटेड किंगडम की किताबें बेचने वाली दुकानों में होने वाली बिक्री पर नज़र रखी जाती है]. 1998 में, बच्चों की लगभग 3.4 करोड़ किताबें बिकीं, 2016 तक यह 6.4 करोड़ हो गईं, तो यह हैरी पॉटर का एक बहुत ही साफ़ तौर पर दिखाई देने वाला असर है.

ज़ाहिर तौर पर, यह इकलौती चीज़ नहीं है जो इसके लिए ज़िम्मेदार है, लेकिन मुझे लगता है कि हैरी पॉटर ने इसके लिए एक मिसाल कायम की, जिससे यह मुमकिन हो सका.

दूसरा ज़रूरी और लाजवाब असर किताबों को पढ़ने से होने वाला जादू और उनका पढ़ने वालों पर होने वाला असर ही है. जैसे इस किताब को पढ़ने वाली पहली पीढ़ी, जो इसके साथ ही बड़ी हुई है, उन्होंने कुछ बिल्कुल ही नया अनुभव किया था. कोई भी नहीं जानता था कि उन किताबों में क्या होने वाला है और वे अगली किताब का इंतज़ार कर रहे थे. अचानक किताब का प्रकाशित होना एक घटना बन गई.

अब बच्चों की किताबों का क्षेत्र हुनर से भरा हुआ है, क्योंकि लेखकों की नई पीढ़ी आ रही है, जो कि असल में हैरी पॉटर के प्रशंसक थे, जिनका किताबों के लिए प्यार और उन्हें पढ़ने तरीका एक अद्भुत अनुभव के मुताबिक ढला हुआ है.

इसने किस तरीके से बच्चों को पढ़ते रहने के लिए बढ़ावा दिया है?

उन शुरुआती सालों में, हैरी पॉटर की वजह से किताबें पढ़ना ऐसा काम बन गया, जिसे लोग एक साथ करने लगे और यह ऐसी चीज़ थी, जिसने उन लोगों को लुभाया जिन्हें पढ़ने की आदत नहीं थी.

दिलचस्प रूप से, 90 के दशक के आखिर में और 2000 के शुरू में, उसी वक्त किताबें पढ़ने और पढ़ पाने के लिए काफ़ी अच्छे कदम उठाए गए, जिससे इसे बहुत बढ़ावा मिला. 1998 किताबें पढ़ने का राष्ट्रीय साल था, जिसे सरकार से मदद मिली थी. बाद में उन्होंने बुकस्टार्ट की मदद करनी शुरू की, जिसने प्रीस्कूल के बच्चों के लिए मुफ़्त में किताबें मुहैया कराईं.

हैरी पॉटर अपने आप में एक ऐसा जादू है, जो हर समुदाय से पढ़ने वालों को अपनी तरफ़ खींच रहा है - और यह अब भी काम करता है.


हैरी पॉटर और पारस पत्थर के चैप्टर 17 के हाथ से लिखा गया पहला ड्राफ़्ट, जे.के. रोलिंग, ब्लूम्सबरी पब्लिशिंग (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)

किस समय हैरी पॉटर, किताबों की एक सीरीज़ से बढ़कर संस्कृति का एक हिस्सा बन गया? क्या कोई मोड़ था, जिससे यह बदलाव आया?

अगर आप इसे बिक्री के कड़े नज़रिए से देखें तो, असल में अज़्काबान का कैदी प्रकाशित होने का समय था - तभी से सब कुछ आगे बढ़ना शुरू हुआ. बाद में फ़िल्में नए दर्शक लाईं लेकिन काफ़ी हद तक उन्होंने एक-दूसरे की मदद की.

मेरे हिसाब से सिर्फ़ अब ही हम यह सच में कह सकते हैं कि हैरी पॉटर संस्कृति का एक ज़रूरी, लंबे समय तक रहने वाला हिस्सा है. पहली किताब को प्रकाशित हुए 20 साल बीत चुके हैं और कई चीज़ें आकर चली गईं लेकिन हैरी अब तक यहीं है.

वह कौन-सी बात है, जो इसे अपनी पिछली सफल सीरिज़ जैसे द फ़ेमस फ़ाइव या द क्रॉनिकल्स ऑफ़ नार्निया से अलग खड़ा करती है?

बच्चों की किताब की दुनिया में हैरी पॉटर ने बहुत से नियम तोड़े हैं. पहले हमें लगता था कि बच्चों की किताब कभी-भी 60,000 शब्दों से अधिक नहीं होनी चाहिए, और पूरी सीरिज़ के दौरान आपके पात्रों की उम्र एक-सी ही होनी चाहिए.

व्यावसायिक सीरिज़ वाले उपन्यास कभी-कभी एक ही फ़ार्मूले के आधार पर बनते थे, हालांकि काफी रुचि पैदा करते थे. ऐसे में आप उम्मीद करने लगे थे कि उपन्यास कुछ विशेष चीज़ें पेश करें और हैरी पॉटर इस उम्मीद पर खरा उतरा भी. हैरी पॉटर की कहानी आपको पूरी तरह से एक नई दुनिया में ले जाती है.

यह सही है कि हैरी पॉटर की कुछ बातें अन्य किताबों से मिलती-जुलती हैं, लेकिन इसकी सब चीजों को मिलाकर देखा जाए तो वाकई में यह असाधारण कल्पनाओं का भंडार है, साथ ही डार्क थिम को बड़े ही उम्दा तरीके से सबके सामने रखा है और फिर भी यह काफी हद तक बच्चों की किताबों वाला अहसास देती है, यह वाकई में अविश्वसनीय रूप से बिल्कुल नई और सबसे अलग सोच वाली किताब थी और आज भी है.

Synopsis of Harry Potter and the Philosopher's Stone by J.K Rowling, Bloomsbury Publishing (From the collection of The British Library)

उस समय इस किताब के मशहूर होने की उम्मीद नहीं की गई थी, ऐसा क्यों था? और प्रकाशन के समय की पूरी तस्वीर क्या थी?

1997 में, जब पहली किताब प्रकाशित की गई, तो अधिकतर बड़े प्रकाशकों ने इसे सिर्फ बच्चों के लिए पसंद किया, लेकिन किसी की भी इसे लेकर कुछ खास व्यावसायिक महत्वाकांक्षा नहीं थी. हैरी पॉटर की शुरुआत को लेकर कई बातें कहीं गई थीं, जैसे कि इसे पहले 12 प्रकाशकों ने अस्वीकार कर दिया और फिर ब्लूम्सबरी ने इसे अपनाया. लेकिन यह सही नहीं है कि इस किताब को लेकर ब्लूम्सबरी की व्यावसायिक महत्वाकांक्षा नहीं थी.

मैं उस समय वहां नहीं था, लेकिन मुझे पता है कि किताब को लेकर साफ तौर पर सभी में उत्साह था. लेकिन इससे पहले कि वे इसे हासिल करते, किताब को एक बैठक से होकर गुजरना पड़ा, जो हमारे संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी निगेल न्यूटन की अध्यक्षता में हुई. निगेल इस किताब के तीन अध्यायों को अपने घर ले गए और उन्होंने इसे अपनी 8 वर्ष की बेटी को पढ़ने को दिया, जिसने उन्हें एक नोट लिखा, जिसमें उसने कहा कि वह बाकी पूरी किताब भी पढ़ना चाहती है. जाहिर सी बात है कि कहानी को लेकर सच्चा प्यार और उत्सुकता तो सब में थी और जबकि यह भी सच है कि ब्लूम्सबरी ने इसके लिए कुछ खास भुगतान नहीं किया था, क्योंकि उन दिनों कोई भी बच्चों की किताब को खासी तवज्जो नहीं देता था. और मुझे लगता है कि उस समय लोग सोचते थे कि क्या कोई बच्चों की किताब भी सफल होगी भला, लेकिन वास्तव में ऐसा हुआ.

नवयुवाओं और बच्चों के दूसरे उपन्यासों को बढ़ावा देने में इस किताब की भूमिका क्या थी?

मुझे लगता है कि अब लेखकों की एक ऐसी पूरी पीढ़ी है, जो आज लेखक इसलिए हैं क्योंकि वे हैरी पॉटर के ज़रिए किताबें और पढ़ने से प्यार करने लगे. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आपको उन लेखकों के काम और हैरी पॉटर की सामग्री के बीच एक सीधा संबंध मिलेगा.

बेशक हैरी पॉटर के बाद इसी क्रम में ट्विलाइट, हंगर गेम्स जैसे सच में काफी सफल उपन्यास आए, जो भी अपनी तरह की असाधारण मौलिक रचनाएं रहीं. युवा किशोरों की प्रतिक्रियाएं इसलिए दिलचस्प हैं क्योंकि उनकी प्रवृत्ति ज़्यादातर घूम-फिरकर उसी चीज़ पर वापस आने की होती है, उदाहरण के लिए 3 या 4 वर्षों तक ट्विलाइट ने सफलतम पुस्तकों की सूची पर अपना दबदबा बनाए रखा और फिर उसका स्थान द हंगर गेम्स ने ले लिया. अपने प्रशंसकों के मन में अपनी स्थायी जगह के चलते हैरी पॉटर इन सबसे अलग रही. यहां तक कि पिछले साल, जो कि इस किताब के प्रकाशन की 20वीं सालगिरह थी, हैरी पॉटर और पारस पत्थर का हमारा नियमित संस्करण 10वीं सबसे ज्यादा बिकने वाली बच्चों की किताब रही.

जे. के. रोलिंग द्वारा हॉगवर्ड का चित्रण, ब्लूम्सबरी पब्लिशिंग (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)

जब किताबों की सीरीज़ इतनी सफल हो जाती है तो क्या चुनौतियां सामने आती हैं? क्या दूसरी किताबों से प्रतिस्पर्धा होती है?

सच यह है कि किताबें प्रतिस्पर्धा नहीं करती हैं. हालांकि बहुत कुछ एक प्रकाशक या लेखक के रूप में आपको अच्छा लगेगा जब किताबों को पुरस्कार मिलें या उनकी बिक्री अच्छी हो, लंबे समय तक चलने के लिए किताब का महत्व इस बात पर निर्भर करता है कि वह पढ़ने में कैसी है.

हालांकि हैरी पॉटर से कोई मुकाबला नहीं कर सकता, क्योंकि आप कुछ भी कर लें यह ऐसी घटना जीवन में एक ही बार होती है. हाल ही में यह बताया गया है कि पूरी दुनिया में इस सीरीज़ की अब तक 50 करोड़ किताबें बिक चुकी हैं, जो कि संख्या के नज़रिए से बहुत ही खास है.

जब इसने लोकप्रियता हासिल करना शुरू किया, क्या उस समय अगली बड़ी सीरीज़ लाने का दबाव था?

उस समय निश्चित रूप से एक अवसर नज़र आ रहा था, मुझे लगता है कि यही वह है जो पॉटर ने बच्चों से जुड़े प्रकाशन में किया है. इसलिए उसे एक दबाव के रूप में देख सकते हैं या आप यह भी देख सकते हैं कि इसकी वजह से लोगों ने बच्चों की किताबों में संभावनाओं के अलग ढंग से देखा.

प्रकाशक किसी किताब के बहुत बड़ी पाठक संख्या तक पहुंचने की संभावना को लेकर उत्साहित थे और उसका प्रभाव अभी दिखाई देता है कि पिछले पांच सालों में बच्चों की किताबों का बाज़ार लगातार बढ़ता जा रहा है.

जिस व्यक्ति ने यह किताब नहीं पढ़ी उसे इसे पढ़ने के लिए राजी करने के लिए आप हैरी पॉटर के बारे वो कौन-सी एक बात बोलना चाहोगे?

जिसने यह किताब नहीं पढ़ी हो, उसे मैं यही कहूँगा कि वह अपने आप को वह समय और जगह दे ताकि वह इस पूरी सीरीज़ को पढ़ने का असली अनुभव ले पाए और खुद को इसमें खो जाने दे.

खास तौर पर युवा पाठकों के लिए, कभी-कभी जो के लेखन का विस्तार और उमंग सच में अज़्काबान का कैदी में स्पष्ट हो जाती है. मुझे लगता है कि यहीं से आपकी दिलचस्पी एकदम बढ़ने लगती है, आप इसे हैरी पॉटर और पारस पत्थर तथा रहस्मयी तहखाने में बनते देख सकते हैं, लेकिन तीसरी किताब है जहां यह अपने चरम पर होती है. मेरे लिए, मेरी पसंदीदा है, लेकिन यह किसी से मत कहना!

जे.के. रोलिंग द्वारा लिखी गई विषय शिक्षकों और हिपोग्रिफ़ के नामों की हस्तलिखित सूची, ब्लूम्सबरी पब्लिशिंग (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)
Words by Rebecca Fulleylove
क्रेडिट: सभी मीडिया
इस कहानी को किसी मित्र के साथ शेयर करें
Google अनुवाद करें
मुख्यपृष्ठ
एक्सप्लोर करें
आस-पास
प्रोफ़ाइल