Editorial Feature

जिम के, उस लड़के की तस्वीर बनाने पर जो ज़िंदा बच गया

कलाकार हैरी पॉटर की नई किताबों पर बनाई अपनी पेंटिंग की चर्चा करते हैं


पिछले कुछ सालों से मशहूर कलाकार जिम के पूरे हफ़्ते, दिन में 12 घंटे जादूगरों की दुनिया को पेंटिंग के रूप में उतारने के लिए काम कर रहे हैं. उनकी पेंटिंग ब्लूम्सबरी की हैरी पॉटर की नई पेंटिंग वाली किताबों की जान हैं. इन पेंटिंग ने उन्हें दुनिया भर में पहचान दिलाई है.

1 से 3 किताबें छपने के बाद, फ़िलहाल जिम के पूरी महनत से चौथी किताब, आग का प्याला पर काम कर रहे हैं. जो बारीकी और जूनून किताबों के पन्नों पर देखने को मिलता है, वही जिम से बात करने पर पूरी तरह से महसूस होता है. जिम सभी 7 किताबें खत्म करने के लिए पूरी महनत कर रहे है. उन्होंने अपने काम से पढ़ने वालो की एक नई पीढ़ी को प्रेरणा दी है और असली प्रशंसकों को याद दिलाया है कि जो दुनिया जे के रोलिंग ने 20 साल पहले बनाई थी, वह अभी तक भी कितनी जादुई है.

यहां हम जिम से उनकी कला के पीछे की सोच और ऐसी मशहूर और दुनिया भर में पहचाने जाने वाली पेंटिंग को बनाने में आए उतार-चढ़ाव के बारे में बात करेंगे.

आप हैरी पॉटर किताबों की पेंटिंग बनाने में कैसे शामिल हुए? आपने इससे पहले किन किताबों पर काम किया था?

मैंने किसी ज़्यादा बड़ी किताब पर काम नहीं किया था. मेरी पहली पूरी किताब पैट्रिक नेस की लिखी मॉन्स्टर कॉल्स थी, जिसका विचार शिवॉन दाउड ने दिया था. मैंने इसकी उम्मीद नहीं की थी. मुझे मेरे एजेंट का फ़ोन आया और वे बोलीं, “तुम मेरी बात आराम से सुनना - मेरे पास तुम्हारे लिए हैरी पॉटर का काम है,” और उनका मतलब सिर्फ़ कवर नहीं था, उनका मतलब था पूरी सात किताबें. मैं मानता हूँ बेहतर बनने का सिर्फ़ एक तरीका, वे काम करना जिन्हें करने में आपको डर लगता है और बिना किसी शक के, इससे ज़्यादा डरा देने वाला काम मुझे नहीं मिल सकता था.

अज़्काबान के कैदी के लिए जिम के का बनाया गरुड़अश्व बकबीक की तस्वीर (द ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)
रहस्यमई तहखाना के लिए जिम के की बनाई तस्वीर, फ़ीनिक्स का अध्ययन (द ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)

आप अपने पेंटिंग के अंदाज़ के बारे में क्या कहेंगे?

मुझे नहीं लगता कि पेंटिंग करने का मेरा कोई खास अंदाज़ है. मैंने अपनी पेंटिंग में मिली-जुली पहुंच का इस्तेमाल किया है और पहली किताब में अलग-अलग तरह के अंदाज़ सामने आए. जब मुझे मेरा अंदाज़ मिल जाएगा, मेरी ज़िंदगी बहुत आसान हो जाएगी क्योंकि तब सभी को पता होगा कि मैं क्या करने वाला हूं. ब्लूम्सबरी ने बहुत सब्र रखा और वे बहुत सी नई चीज़ें आज़माने के लिए तैयार रहते थे. पेंटिंग करना बहुत मुश्किल है. यह परेशान करने वाला काम है.

पेंटिंग करने बारे में ऐसी कौनसी बात है जो आपको मुश्किल लगती है?

पूरे दिन में 12 घंटों के लिए अकेले बैठना काफ़ी मुश्किल काम है - मैं बहुत बेचैन इंसान हूं. साथ ही, उसे बनाना भी बहुत मुश्किल है - मैं कभी भी पहली बार में ही उसे सही तरीके से नहीं बना पाता. किताब में मौजूद हर पेंटिंग बनाते वक्त कई पेंटिंग गलत बनी हैं. यह बात आत्मा को बहुत दुख पहुंचाती है जब आपको लगता है कि आप सिर्फ़ कूड़ेदान भर रहे हैं. दूसरी ओर, जब मैं कोई तस्वीर नहीं बना रहा होता हूँ तो, ऐसा लगता है कि कुछ छूट रहा है. यह ऐसा काम है जो मुझे करना ही होता है, हालांकि, यह कुछ ऐसा नहीं है जो अपने आप हो जाता हो, ज़्यादातर यह जबरदस्ती करना पड़ता है.

अक्सर आपके काम में सुंदरता के मामले में बहुत बारीकियां होती हैं. क्या आप हमेशा से पेंटिंग में छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देते आए हैं?

बचपन में मैं रिचर्ड स्कारी की बहुत सी किताबें पढ़ता था, जो खुद एक ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने ने बारीकियों पर ध्यान दिया है. मैंने पाया है कि लोगों, खासकर बच्चों को चीज़ें ढूंढना बहुत पसंद होता है. इसलिए जो भी मैंने बनाया है वह इसी कारण है - हर बार जब लोग किताब पढ़ें, मैं उन्हें कुछ न कुछ ढूंढने के लिए देना चाहता हूं.

रहस्यमई तहखाना के लिए जिम के की पेंटिंग हैरी पॉटर और कालसर्प का अध्ययन (द ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)
जिम के की बनाई छूमंतर गली (द ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)

किताबों में पहले से लिखे लेख और अपनी कल्पना के बीच आप तालमेल कैसे बिठाते हैं?

लेखक को किसी बात का बुरा न लगे इसके लिए तालमेल बिठाना ज़रूरी होता है, लेकिन अब तक जो (जे के रोलिंग) ने मुझे कुछ भी करने से नहीं रोका है. यह कमाल की बात है क्योंकि मैंने कभी नहीं सोचा था कि ‘छूमंतर गली’ स्केच के पड़ाव से आगे भी बढ़ पाएगी. कुछ हद तक, मेरा काम खाली जगह भरना है और जो [जे के रोलिंग] ने जो दुनिया बनाई है उसकी सीमाएं बढ़ाना है.

इतना सारा लेख पढ़ना मुश्किल काम है. आप एक बार में सिर्फ़ एक किताब से जुड़ी पेंटिंग नहीं बना रहे होते, आप लगातार सभी 7 किताबें पढ़ रहे होते हैं. ब्लूम्सबरी को अब इस चीज़ का बहुत अनुभव है और उनके पास एक ‘पॉटर बाइबिल’ है, जिसकी मदद मैं हमेशा लेता हूं.

किताब में लिखे लेख के अलावा, आपको पेंटिंग बनाने की प्रेरणा और किन चीज़ों से मिलती है?

मैं अक्सर संग्रहालयों, लाइब्रेरी, नेशनल ट्रस्ट की संपत्तियों और बाकि सब कुछ छानता रहता हूं. मुझे पुरानी इमारतों से जुड़ी चीज़ें और उनकी बनावट बहुत पसंद है. साथ ही कपड़े भी - मैं यह ज़्यादा दिखाना चाहता हूं कि जादू की दुनिया के लोग कैसे कपड़े पहनते हैं क्योंकि ये सामान्य लोगों के कपड़ों से बहुत अलग होने चाहिए.

आप किसी पेंटिंग पर किस तरीके से काम करते हैं?

मुझे एक बिंदु मिल गया है जहां मैंने एक लयबद्ध आरेख बनाया है, इसलिए मैं इसी आरेख में कुछ बना लूंगा और मैं जानता हूं कि यही वह रचना है जो मुझे चाहिए. लेकिन मैं अक्सर कच्चे काम पर भरोसा नहीं करता, आमतौर पर वह और भी बेहतर होता है, और जिस तरह मैं ऐसा करता हूं उसमें मैं बहुत अव्यवस्थित हूं.

मैं बहुत आसानी से बोर हो जाता हूं इसलिए मैं माध्यम बदलता रहता हूं जैसे कि नए-नए पेंट आज़माना. मैं अक्सर ऐसे पेंट इस्तेमाल करता हूं जो इस्तेमाल में अजीब लगें जैसे कि खुद करके देखने वाले स्थानों के टेस्टर पॉट का मिश्रण ऐसी चीज़ों के साथ करना जो वैक्स के साथ मिश्रित नहीं होंगी. मैं खराब ब्रशों का और अप्रत्याशित चीज़ों का भी इस्तेमाल करता हूं.

जिम के की डैगन एेली (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)
अज़्काबान के कैसियों के लिए, जिम के की ओर से प्रोफ़ेसर सेवेरस स्नैप का चित्र (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)

आप हर किताब के लिए कितना समय देते हैं?

पहली किताब के लिए, हमें लगा था कि हर एक के लिए हमें 6 महीने का समय लगेगा. पहली किताब में हमें ढाई साल लग गए – वह भी हफ़्ते में सातों दिन, कम से कम बारह घंटे काम करने पर. फिर हमने सीधे दूसरी किताब पर काम शुरू कर दिया और उसमें हमें 8 महीने लगे, क्योंकि पहली किताब में बहुत ज़्यादा समय लग गया था. यह बहुत ही मुश्किल था. तीसरी किताब खत्म होने तक मैं बुरी तरह थक चुका था और भ्रमित होने लगा था.

तीसरी और चौथी किताब के बीच मिले ब्रेक का मतलब था कि मैं आंशिक रूप से पीछे लौटकर प्रोजेक्ट के बारे में कुछ कह सकता था. इसमें हर दिन का हर पल निकल गया था, लेकिन चूंकि आप अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं, इसलिए आप पर बहुत ज़्यादा दबाव होता है. यह अजीब है कि आप खुद को किन परिस्थितियों में डालते हैं.

किताबों के कवर पर काम करते समय, आप यह कैसे तय करते थे कि आपको किताब के किस हस्से पर ध्यान केंद्रित करना है?

कवर बनाने का काम बहुत अजीब होता है, क्योंकि इसमें बहुत सारी सीमाएं होती हैं. इन किताबों के लिए उन्हें बड़ी रचना में समेटा गया है और उनके ऐसे बहु-भाषी संस्करण भी हैं जिनके शीर्षक लिखे जाने हैं.

सबसे मुश्किल कवर वह है जिस पर मैं अभी काम कर रहा हूं. गॉब्लेट ऑफ़ फ़ायर, में हैरी के किए गए तीन काम सबसे शानदार हैं लेकिन वे कवर पर किस तरह दिखेंगे. असल में आप उन्हें कैसे बनाएंगे? ऐसा करने के लिए कुछ और कवर मीटिंग करनी होंगी.

प्रोजेक्ट में अब तक वह कौनसी चीज़ है जिसे बनाना सबसे कठिन रहा है?

वह हर बार, हमेशा से हैरी ही रहा है. वह लेक डिस्ट्रिक्ट का एक जवान लड़का है, जो खूबसूरत तो दिखता ही है और उसका चेहरा भी दूसरों से अलग है. लेकिन जब आप उसे ईमानदारी से कागज़ पर उतारते हैं, तो वह हमेशा वैसा नहीं दिखता.

हर किसी ने लबादा पहना हुआ है और इस तथ्य को चित्र में उतारना वाकई कठिन होता है. उनके कपड़े इतने ढीले-ढाले हैं कि हर चीज़ एक बुरे सपने की तरह लगती है. आप चाहते हैं कि कोई तो चुस्त कपड़े पहने. और फिर जब आप, लोगों को झाड़ू पर बैठा दिखाते हैं, तो यह बहुत ही बुरा लग सकता है. किसी के लिए झाड़ू पर आराम से बैठना बहुत ही मुश्किल है – और आप उन झाड़ू वाले पलों से डर जाते हैं.

चैम्बर ऑफ़ सीक्रेट्स के लिए जिम के की बनाई स्टडी ऑफ़ हैरी पॉटर एंड ड्रैको मैलफ़ॉय प्लेइंग क्विडिच (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)
जिम के की बनाई विंग्ड कीज़ (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)

आपको किस चीज़ का चित्र बनाना सबसे ज़्यादा पसंद है?

मुझे दैत्याकार पसंद है, खासकर हैग्रिड. उसके बाल भारी और ढंके हुए हैं तो आप बस कलम घसीटते हैं और वह अच्छा लगने लगता है. साथ ही इंसान की तुलना में हैग्रिड का अनुपात किसी बच्चे जैसा है क्योंकि आप सिर उठाकर उसे देख रहे होते हैं. मैं इस नई किताब में चार ड्रैगन के चित्र बनाने को लेकर भी बहुत खुश हूं – मैंने कई सालों तक उनके चित्र बनाए हैं.

एक किताब से दूसरी किताब में पात्र बड़े होते जा रहे हैं, ऐसे में शुरुआत में बच्चों के चित्र बनाने और अब उनके जवान हो जाने के चित्र बनाने में क्या फ़र्क लगता है?

मेरी ड्रॉइंग बच्चों के असली मॉडल पर आधारित होती हैं और मुझै पता है कि बेशक उनकी उम्र बढ़ रही है. असली बच्चों का इस्तेमाल करने की बड़ी वजह यह है कि मैं सालों के दौरान उनमें होने वाले बदलावों को माप सकता हूं.

जैसे-जैसे वे बड़े होते जाते हैं, वैसे-वैसे उनके [पात्रों के] चित्र बनाना थोड़ा मुश्किल होता जाता है. जब आप 11 साल के बच्चे का चित्र बनाते हैं, तो उसके चेहरे पर ध्यान देने लायक ज़्यादा कुछ नहीं होता. उसका चेहरा एकदम साफ़ होता है और चेहरे पर कोई झुर्रियां नहीं होतीं. खुशकिस्मती से जैसे-जैसे आप बड़े होते जाते हैं और आपके चेहरे में कुछ कोण बनने लगते हैं, मुझे जवान बच्चों के कोण वाले, रौबदार, तुनकमिजाज़ चेहरे बनाना अच्छा लगता है.

फिलॉसोफर्स स्टोन के लिए, जिम के की बनाई हुई स्टडी ऑफ़ प्लैटफ़ॉर्म नाइन एंड थ्री-क्वार्टर्स (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)
चैम्बर ऑफ़ सीक्रेट्स के लिए, जिम के की बनाई हुई स्टडी ऑफ़ ऍरगॉग (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)

कैसा लगता है जब आपके चित्रों को इतने बड़े पैमाने पर देखा जाता है?

मैं पूरी कोशिश करता हूं कि इस बारे में न सोचूं – अगर मैं ऐसा करूंगा तो मुझे रात को नींद नहीं आएगी. आप इस बारे में बहुत ज़्यादा नहीं सोच सकते हैं कि यह चीज़ आम लोगों के बीच जा रही है, क्योंकि इससे बहुत ज़्यादा डर पैदा हो जाएगा. ब्रिटिश लाइब्रेरी की प्रदर्शनी में, मेरे रेखा-चित्र लगे हैं और आप कभी उम्मीद नहीं करते कि लोग उस हिस्से को देखेंगे. इसलिए अचानक मैं सोचने लगता हूं कि शायद भविष्य में मेरे रेखा-चित्र देखे जाएंगे!

अब तक 3 किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं और आप इस समय चौथी किताब पर काम कर रहे हैं – क्या आप कोई इनसे जुड़े अनुभवों को लेकर आगे बढ़ रहे हैं?

मैंने ऐसे टेम्पलेट बनाए हैं जो सभी पेज के सभी आकारों में हैं. इसलिए अगर मैं उसी आकार में, आधे आकार में, तीन गुना आकार में काम करना चाहूं, तो मेरे पास ये सारे टेम्पलेट पहले से मौजूद हैं.
बाकी सबकुछ पहले जैसा ही है जिसमें आप हल्का तनाव लेते हैं और अंदाज़ा लगाते हैं, ऐसी चीज़ें करने की कोशिश करते हैं जो गलत न हों. इसमें मेरी सफलता की दर अभी भी कम ही है, लेकिन मैंने इस बात को मान लिया है कि मैं पहली बार में सही काम नहीं करता. मेरे लिए यह अगली किताब सबसे रोमांचक है, और मैं इसे ठीक से करना चाहता हूं.

आपको अपने काम को लेकर सबसे अच्छी प्रतिक्रिया क्या मिली है?

मुझे कुछ चिट्ठियां आई हैं जिनमें लिखा है कि हम अपने बच्चों की रुचि किताबों में तो नहीं जगा सके, लेकिन आखिरकार सचित्र संस्करण आने से वे इसे पढ़ने लगे हैं. इसलिए मेरे लिए इससे बढ़कर और कुछ नहीं है. यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है. अगर आप किताबें पढ़ने में एक इंसान की रुचि जगा सकें, तो आपने अकेले रहकर उसमें जो समय लगाया है, वह महत्वपूर्ण है क्योंकि शायद आपने किसी को साहित्य की दुनिया से जोड़ने में सहायता की है.

फ़िलॉसोफ़र्स स्टोन के लिए जिम के की बनाई हुई स्टडी ऑफ़ मैंड्रेक्स (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)
अज़काबान के कैदियों के लिए, जिम के का बनाया हुअा प्रोफ़ेसर रीमस का चित्र (ब्रिटिश लाइब्रेरी के संग्रह से)
Words by Rebecca Fulleylove
क्रेडिट: सभी मीडिया
इस कहानी को किसी मित्र के साथ शेयर करें
Google अनुवाद करें
मुख्यपृष्ठ
एक्सप्लोर करें
आस-पास
प्रोफ़ाइल